दिल्ली में जनवरी 2022 में इलेक्ट्रिक वेहिकल्स की बिक्री 136% बढ़ी.

दिल्ली सरकार के अनुसार, दिल्ली में जनवरी 2022 में 3,404 इलेक्ट्रिक वेहिकल्स की बिक्री हुई जो जनवरी 2021 की तुलना में 136% ज्यादा है.

जनवरी 2022 में इलेक्ट्रिक वेहिकल्स में आधा से ज्यादा बिक्री इलेक्ट्रिक 2 व्हीलर्स की हुई थी.

इस साल जनवरी 2022 में इलेक्ट्रिक 2 व्हीलर्स जनवरी 2021 की तुलना में 753% ज्यादा बिके हैं. इसके साथ, इस साल जनवरी में पहली बार इलेक्ट्रिक 2 व्हीलर्स की बिक्री इ रिक्शा से ज्यादा हुई है.

पूरी दिल्ली में 13.4 मिलियन रजिस्टर्ड वेहिकल्स हैं और इनमे 7.4 मिलियन वेहिकल्स 2 व्हीलर्स हैं जो प्रदूषण का मुख्य कारण हैं.

दिल्ली में जनवरी 2022 में 146 प्राइवेट इलेक्ट्रिक कार बिके थे जो जनवरी 2021 से 36% ज्यादा हैं. इलेक्ट्रिक टैक्सी की बिक्री ने भी जनवरी 2022 में 272% की बढ़ोतरी दर्ज की है.

इलेक्ट्रिक वेहिकल्स की इस लोकप्रियता का कारण दिल्ली सरकार द्वारा इलेक्ट्रिक वेहिकल्स को दिया जानेवाला प्रोत्साहन है.

दिल्ली सरकार ने अगस्त 2020 में दिल्ली इलेक्ट्रिक वेहिकल पालिसी (Delhi Electric Vehicle Policy) को अमल में लाया था.

इस पालिसी के अंतर्गत, सरकार ने 2024 तक अपने राज्य में 25% वेहिकल्स को इलेक्ट्रिक वेहिकल्स बनाने का लक्ष्य रखा है.

इसके अलावा, दिल्ली सरकार ने अपने राज्य में इलेक्ट्रिक वेहिकल्स को रोड टैक्स और रजिस्ट्रेशन फी देने से पूरी तरह से फ्री कर दिया है.

दिल्ली सरकार का प्रयास शुरू से 2 और 3 व्हीलर को इलेक्ट्रिक वेहिकल्स में कन्वर्ट करने का रहा है.

जनवरी 2022 के सेल्स डाटा को देखकर ये कहा जा सकता है कि अब दिल्ली सरकार का ये प्रयास अपना रंग ला रहा है.

चूँकि सारे रजिस्टर्ड वेहिकल्स का लगभग आधा हिस्सा 2 व्हीर्ल्स का है इसलिए इनको इलेक्ट्रिक वेहिकल्स में कन्वर्ट करने से दिल्ली के हवा की क्वालिटी में बहुत ही सुधार आएगा.

दिल्ली में प्रदूषण को कम करने के लिए दिल्ली सरकार ने कई कदम उठाये हैं. इलेक्ट्रिक वेहिकल्स को अपने राज्य में प्रोत्साहित करने के पीछे अपने राज्य में प्रदूषण को कम करना भी है.