अब किसी भी साइकिल को इलेक्ट्रिक साइकिल में मिनटों में बदलें

सामान्य साइकिल को इलेक्ट्रिक साइकिल में बदलने के लिए एक भारतीय अविष्कारक (inventor) ने एक देशी किट का अविष्कार किया है.

इस किट का नाम ध्रुव विद्युत् इलेक्ट्रिक कन्वर्शन किट [Dhruv Vidyut Electric Conversion Kit (DVECK)] है जिसे गुरसौरभ सिंह ने ईजाद किया है.

गुरसौरभ सिंह के अनुसार, इस इलेक्ट्रिक किट से इंडिया में क्रन्तिकारी परिवर्तन आ सकता है.

ये किट किसी भी ट्राइसिकल में फिट हो सकती है. गुरसौरभ सिंह का “Dhruv Vidyut” नाम से यूट्यूब (YouTube) पर एक चैनल भी है.

ये किट बहुत ही आराम से किसी भी सामान्य साइकिल के बॉडी में फिट हो जाती है जिससे साइकिल 26 kmph की टॉप स्पीड तक जा सकती है.

इस किट की मदद से कोई भी साइकिल 170 kg का भार लेकर 40 km तक की दूरी पूरी कर सकती है. 

ये किट किसी भी साइकिल में फिट हो सकती है. ये इलेक्ट्रिक किट कीचड़ भरे सड़कों पर आराम से चल सकती है. ये फायरप्रूफ और वाटरप्रूफ भी है.

इस किट की मदद से बिना किसी वेल्डिंग,कटिंग या किसी भी प्रकार के चेंज के बिना एक सामान्य साइकिल को इलेक्ट्रिक साइकिल में बदला जा सकता है.

इस किट से इलेक्ट्रिक साइकिल में बदलने के बाद साइकिल में एक इग्निशन स्विच, बैटरी इंडिकेटर और एक थ्रोटल भी मिल जाता है.

इस किट में एक USB पोर्ट भी है जिससे किसी भी फ़ोन को चार्ज किया जा सकता है.

ध्रुव विद्युत् इलेक्ट्रिक कन्वर्शन किट को पूरी तरह से एल्युमीनियम से बनाया गया है. इस किट को बिजली से चार्ज कर सकते हैं.

बिजली नहीं होने पर केवल 20 मिनट के पेडल करने से इससे इस किट की बैटरी 50% तक चार्ज हो जाती है.

गुरसौरभ सिंह के इस किट की प्रशंसा महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा ने भी की है और उन्होंने इस इलेक्ट्रिक कन्वर्शन किट में इन्वेस्ट करने की इच्छा भी जताई है.

गुरसौरभ सिंह के अनुसार, इस किट की मदद से इंडिया के 8 करोड़ साइकिल और रिक्शा को इलेक्ट्रिक में बदल सकने की क्षमता है.