इलेक्ट्रिक वेहिकल की माइलेज और रेंज कैसे बढ़ाएं

भारत में इलेक्ट्रिक वेहिकल्स की संख्या में कुछ समय से अच्छी खासी बढ़ोतरी हुई है.

इन वेहिकल्स से सामान्य जनता पेट्रोल/डीजल की बचत तो कर पाती है उसके अलावा वो अपने पर्यावरण को भी अच्छा रखने में मदद करती है.

इलेक्ट्रिक वेहिकल्स कंपनियां अपने ग्राहकों से मॉडल को लांच करने के समय लम्बे रेंज और माइलेज की बात करती है लेकिन असल में कभी कभी ग्राहकों को सही रेंज और माइलेज नहीं मिल पाती है.

किसी भी इलेक्ट्रिक वेहिकल के रेंज को बढ़ाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना चाहिए जिनमे से कुछ मुख्य आगे दी गयी हैं.

सबसे मुख्य बात है कि किसी भी इलेक्ट्रिक वेहिकल की स्पीड को शुरू में स्टार्ट करते ही अचानक से नहीं बढ़ाना चाहिए (अक्सेलरेशन).

इलेक्ट्रिक वेहिकल्स की बैटरी को हमेशा फुल चार्ज रखना चाहिए. इससे वेहिकल्स की रेंज ज्यादा हो जाती है और वेहिकल अच्छे से चलती है.

किसी भी वेहिकल के रेंज को बढ़ाने के लिए उसके टायर का प्रेशर स्टैण्डर्ड प्रेशर के बराबर रखना चाहिए.

इलेक्ट्रिक वेहिकल्स को पेट्रोल/डीजल वेहिकल्स की तरह समय समय पर सर्विसिंग की जरुरत होती है. इससे इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की उम्र बढ़ जाती है.

किसी भी इलेक्ट्रिक वेहिकल में पड़ी अनावश्यक भार (लोड) को हटाने से भी वेहिकल की रेंज बढ़ जाती है.

चार्जर को हमेशा सही और साफ़ कंडीशन में रखना चाहिए और उसे धूल/मॉइस्चर से बचा कर रखना चाहिए.

इलेक्ट्रिक वेहिकल के रेंज को बढ़ाने के लिए उसके लिए सुझाए गए वेट से ज्यादा वेट नहीं रखना चाहिए.

किसी भी इलेक्ट्रिक वेहिकल के रेंज बढ़ाने के लिए उसमे अनावश्यक इलेक्ट्रिक एक्सेसरी नहीं रखें.

इलेक्ट्रिक वेहिकल के रेंज को बढ़ाने के लिए हाईवे पर वेहिकल के ग्लास विंडो को बंद करके वेहिकल चलाना चाहिए.

सिटी में इलेक्ट्रिक वेहिकल को धीरे से चलाना चाहिए और बिना जरुरत के अनावश्यक ब्रेक लगाने से बचना चाहिए. वेहिकल को हमेशा एक स्पीड से चलाना चाहिए.

इलेक्ट्रिक वेहिकल को धूप में ज्यादा रखने से उसके बैटरी की लाइफ कम हो जाती है. इसलिए कोशिश करना चाहिए कि इलेक्ट्रिक वेहिकल्स को धूप में नहीं खड़ा करें.